SBI, AXIS, HDFC, PNB और ICICI बैंकों के बचत खाते में मिनिमम बैलेंस

By | May 4, 2018

सभी सरकारी बैंकों के लिए मिनिमम बैलैंस लगभग 500 रुपए है, लेकिन जनधन खाते में यदि खाता खोलते हैं तो इसके लिए शून्‍य राशि होती है। यदि प्राइवेट बैंकों में खाता है तो मिनिमम बैलेंस की सीमा 5000 रुपए से 10,000 रुपए तक है। सरकारी बैंकों में चालू खाते के लिए मिनिमम बैलेंस की राशि 2500 रुपये से 5000 रुपये और निजी बैंकों के लिए यह 10000 रुपये है। वर्तमान में किसी बैंक में कितनी मिनिमम राशि है यह जानने के लिए आप अपने बैंकों की वेबसाइट पर जाकर भी पता कर सकते हैं या फिर सीधे बैंक की शाखा में भी जाकर चेक कर सकते हैं।

यहां पर आपको बताएंगे कि SBI, HDFC, ICICI जैसे बैंकों में मिनिमम बैलेंस कितना होना चाहिए-

स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने मंगलवार को 1 अप्रैल, 2018 से प्रभावी AMB (औसत मासिक बैलेंस) शुल्क में 75% तक की कटौती की घोषणा की है।

एसबीआई में सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस 3000 रुपए, खर्ज 50 रुपए महीने तक, तो वहीं कई बार लेन-देन करने पर 20 रुपए प्रति ट्रांजेक्‍शन और बैलेंस पूछताछ पर 8 रुपए देने होते हैं।

1-1 अप्रैल 2017 से, एसबीआई बचत बैंक खाताधारकों को महीने में तीन बार नकद जमा करने की अनुमति देता है। इसके अलावा, यह प्रत्येक लेनदेन के लिए 50 से अधिक सेवा कर चार्ज करता है।

2-चालू खाते के मामले में, लेवी 20,000 रुपये जितनी अधिक हो सकती है।

3- एसबीआई खाता धारकों को भी अपने खातों में न्यूनतम शेषराशि रखना होगा, ऐसा न करने पर उन्हें जुर्माना लगाया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों के लिए जुर्माना कम होगा।

4-मेट्रोपॉलिटन क्षेत्रों में, यदि शेष राशि 5,000 रुपये के न्यूनतम उपलब्ध शेष राशि का 75 प्रतिशत से कम हो तो 100 से अधिक सेवा कर का शुल्क होगा। यदि 50 प्रतिशत या उससे कम है, तो बैंक 50 से अधिक सेवा कर लगाएगा। 2012 में एसबीआई के पास ऐसे आरोप थे।

5-एसबीआई के अलावा दूसरे बैंक के एटीएम से 3 बार से अधिक बार पैसे निकालने पर 20 रुपए तक चार्ज देना पड़ेगा, तो वहीं एसबीआई के एटीएम से 5 बार से अधिक बार पैसे निकालने पर 10 रुपए तक चार्ज देना होगा।

6-हालांकि, अगर शेष 25,000 रुपये से अधिक हो तो एसबीआई अपने एटीएम से निकासी पर कोई शुल्क नहीं लेगा। अन्य बैंकों के एटीएम से निकासी के मामले में, यदि शेष राशि 1 लाख से अधिक हो तो कोई शुल्क नहीं होगा।

Sponsored Ads

7-एसबीआई डेबिट कार्ड धारकों से प्रति तिमाही एसएमएस अलर्ट के लिए 15 रुपये चार्ज करेगा जो तीन महीने के दौरान औसत तिमाही शेष 25,000 रुपये तक बनाए रखेगी। यूपीआई / यूएसएसडी लेनदेन के लिए 1000 रुपये तक कोई शुल्क नहीं होगा।

एक्सिस बैंक

एक्सिस बैंक ग्राहकों को जमा और निकासी सहित हर महीने पांच मुफ़्त लेनदेन की अनुमति देता है। इसके अलावा, ग्राहकों से प्रति लेनदेन 95 रुपये का न्यूनतम शुल्क लिया जाता है।

HDFC बैंक

एचडीएफसी बैंक में सेविंग अकाउंट में 10,000 मिनमिम बैलेंस, चार्ज 600 रुपए तक, कई बार लेन-देन करने पर 20 रुपए प्रति ट्रांजेक्‍शन और बैलेंस पूछताछ पर 8.5 रुपए देने होते हैं।

1-एचडीएफसी बैंक हर महीने चार मुफ़्त लेनदेन (जमा और निकासी) से 150 रुपये प्रति लेनदेन लेगा।

2-नए शुल्क बचत और वेतन खातों पर लागू होंगे।

3-गृह-शाखा लेनदेन के लिए, बैंक प्रति दिन एक बार में 2 लाख रुपये तक की जमा या निकासी की अनुमति देगा। इसके अलावा, यह 5 रुपये प्रति 1000 रुपये या 150 रुपये चार्ज करेगा।

4-गैर-घरेलू शाखाओं में, प्रतिदिन 25,000 रुपये से अधिक के लेनदेन 5 रुपये प्रति 1000 रुपये या 150 रुपये का शुल्क आकर्षित करेंगे।

ICICI बैंक

आईसीआईसीआई बैंक में सेविंग अकाउंट पर 10,000 मिनिमम बैलेंस, चार्ज 1000 रुपए + मिनिमम बैलेंस से कम का 5 प्रतिशत, ज्‍यादा बार ट्रांजेक्‍शन करने पर 20 रुपए और बैलेंस पूछताछ के लिए 8.5 रुपए तक देने होते हैं। इसके अलावा-

1-घर के शहर में शाखाओं में एक महीने पहले चार लेनदेन के लिए कोई शुल्क नहीं होगा, जबकि उसके बाद 5 रुपये प्रति 1000 रुपये चार्ज किया जाएगा, इसके बाद एक महीने में कम से कम 150 रुपये के अधीन होगा।

2-थर्ड पार्टी की सीमा प्रति दिन 50,000 रुपये होगी।

3-गैर-घरेलू शाखाओं के लिए, आईसीआईसीआई बैंक कैलेंडर महीने के पहले नकद निकासी और उसके बाद प्रति 1000 रुपये के लिए चार्ज नहीं करेगा, इसके बाद न्यूनतम 150 रुपये के अधीन होगा।

4-कहीं भी नकद जमा के लिए, आईसीआईसीआई बैंक शाखाओं में 5 रुपये प्रति 1000 रुपये (न्यूनतम 150 के अधीन) चार्ज करेगा, जबकि नकद स्वीकृति मशीनों पर जमा कैलेंडर महीने की पहली नकदी जमा और 5 रुपये प्रति रुपये के लिए नि: शुल्क होगी उसके बाद 1,000।

पंजाब नेशनल बैंक

Sponsored Ads

Leave a Reply