केंद्र सरकार की इस पेंशन स्कीम में हर महीने मिलेंगे 10 हजार रुपये

By | August 7, 2018
केंद्र सरकार की इस पेंशन स्कीम में हर महीने मिलेंगे 10 हजार रुपये

अगर आप अब तक अटल पेंशन योजना में निवेश कर रहे थे या निवेश करने का बारे में सोच रहे हैं। तो आपके लिये अच्छी खबर है। अटल पेंशन योजना (एपीवाई) के तहत अबतक 1.08 करोड़ लोगों को पंजीकृत किया जा चुका है और इस योजना के तहत ग्राहकों से 4,500 करोड़ रुपये से अधिक की योगदान मिल चुकी है। अब सरकार इस योजना के तहत प्रति माह मिलने वाली पेंशन की राशि को दोगुना करने का विचार कर रही है। एेसे सरकार का ये प्लान लागू होता है तो अब आपको 5 हजार रुपये की जगह 10 हजार रुपये प्रतिमाह पेंशन मिलेगी। प्रधानमंत्री ने 18 से 40 वर्ष आयु वर्ग के सभी भारतीय नागरिकों के लिए मई 2015 में अटल पेंशन योजना शुरुआत की थी।

यह योजना विशेष तौर पर असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले समाज के वंचित तबकों के लिए सरकार द्वारा लाई गई है। पेंशन फंड रेग्यूलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (पीएफआरडीए) जल्द ही एक प्रस्ताव लेकर आ रही है, जिससे पेंशन धारकों को हर महीने मिलने वाली राशि को बढ़ाया जाएगा। पीडीआरडीए ने इसके लिए तीन स्लैब तैयार किए हैं। हालांकि इस पर निर्णय बाद में लिया जाएगा। इसके साथ इस योजना में आने वालों के लिए अधिकतम उम्र सीमा को भी 40 साल से बढ़ाकर 50 साल भी किया जा सकता है। इस पर भी सरकार विचार कर रही है।

पेंशन फंड रेग्यूलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (पीएफआरडीए) ने जो तीन स्लैब तैयार किये हैं, उनमें 6 हजार, 7500 और 10 हजार रुपये शामिल हैं। अभी तक इस योजना के साथ 1.08 करोड़ अंशधारक जुड़ चुके हैं। अगर पेंशन की राशि में बढ़ोत्तरी होती है तो आपको अपना निवेश भी बढ़ाना होगा। यदि आप इस योजना में शामिल होते हैं, तो केंद्र सरकार आपको और आपके पति या पत्नी को जीवन की न्यूनतम पेंशन की गारंटी देती है। इस योजना में निवेश करने पर आपको 60 वर्ष की आयु से लेकर मृत्यु तक आपको 1000 रुपये से लेकर 5,000 रुपये प्रति माह पेंशन मिलेगी। हो सकता है कि अब 5000 की जगह यह रकम 10,000 कर दी जाये। पेंशन 1,000 से लेकर 10,000 के बीच में मिलेगी। अब आपको कितनी पेंशन मिलेगी, यह आपके 60 वर्ष से पहले योजना में योगदान पर निर्भर करेगा। निवेशक की मृत्यु के बाद भी उसके जीवन साथी को पेंशन मिलती रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *